व्हाट्सएप्प हिंदी शायरी – गुमनाम है लोग वतन पर

गुमनाम है लोग वतन पर जान देने वाले
यहाँ लोग तो थपड खाकर मशहुर हो जाते है








Updated: April 18, 2017 — 1:31 pm

Leave a Reply

Hindi Shayari - रोमांटिक, दर्द भरी और प्रेरक शायरी © 2017