शायरी २ लाइन में – कोई हद ही नहीं

कोई हद ही नहीं शायद मोहब्बत के फसाने की….
सुनाता जा रहा है जिसको जितना याद आता है








Updated: April 20, 2017 — 1:20 pm

Leave a Reply

Hindi Shayari - रोमांटिक, दर्द भरी और प्रेरक शायरी © 2017