loading…


शायरी २ लाइन में – सुन कर ग़ज़ल मेरी

सुन कर ग़ज़ल मेरी,
वो अंदाज़ बदल कर बोले,
कोई छीनो कलम इससे,
ये तो जान ले रहा है…….!!




loading…





Updated: April 22, 2017 — 2:12 pm

1 Comment

Add a Comment
  1. इस ज़माने में हज़ारों महफिलें सजी है और लाखों मेले हैं, लेकिन जहां तू नही वहाँ हम बिल्कुल अकेले …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Hindi Shayari - रोमांटिक, दर्द भरी और प्रेरक शायरी © 2017