Hindi Sher 2 Lines Mein – मै अखबार नहीं

मै अखबार नहीं, जो दूसरे दिन पुराना हो जाऊँ,…
मै जिंदगी का वो पन्ना हूँ, जहाँ लम्हे ठहर जाते है….








Updated: April 18, 2017 — 3:32 pm

Leave a Reply

Hindi Shayari - रोमांटिक, दर्द भरी और प्रेरक शायरी © 2017