Latest Hindi Shayari 2017 – आज क्यों कोई शिकवा

आज क्यों कोई शिकवा या शिकायत नहीं मुझसे;
तेरे पास तो लफ्जों की जागीर हुआ करती थी।








Updated: April 20, 2017 — 3:12 pm

Leave a Reply

Hindi Shayari - रोमांटिक, दर्द भरी और प्रेरक शायरी © 2017