Latest Hindi Shayari 2017 – थक गयी हूँ तेरी नौकरी से

थक गयी हूँ तेरी नौकरी से ऐ जिन्दगी
मुनासिब होगा अब मेरा हिसाब कर दे,








Updated: April 17, 2017 — 3:18 pm

Leave a Reply

Hindi Shayari - रोमांटिक, दर्द भरी और प्रेरक शायरी © 2017