Shero Shayari 2 Lines – कद्र हमारी कौड़ी भर की नहीं

कद्र हमारी कौड़ी भर की नहीं,
फिर याद हमारी सुनहरी भला कैसे होगी ?








Updated: April 18, 2017 — 5:11 pm

Leave a Reply

Hindi Shayari - रोमांटिक, दर्द भरी और प्रेरक शायरी © 2017