व्हाट्सएप्प हिंदी शायरी – माना मौसम भी

माना मौसम भी बदलते है मगर धीरे धीरे,
तेरे बदलने की रफ़्तार से तो हवाएं भी हैरान है


Leave a Reply

Your email address will not be published.