व्हाट्सएप्प हिंदी शायरी – गिरे बुज़ुर्ग को उठाने

गिरे बुज़ुर्ग को उठाने भरे बाजार में कोई नहीं आया,
गोरी का रुमाल क्या गिरा पूरा बाजार दौड़ आया…


Leave a Reply