व्हाट्सएप्प हिंदी शायरी – मैं जैसा हूँ वैसा ही रहने दो

मैं जैसा हूँ वैसा ही रहने दो,
अगर बिगड़ गया तो सँभाला नहीं जाऊँगा


Leave a Reply

Your email address will not be published.