व्हाट्सएप्प हिंदी शायरी – राख से भी आएगी

राख से भी आएगी खुशबू मोहब्बत की,
मेरे खत तुम सरेआम जलाया ना करो


Leave a Reply

Your email address will not be published.