व्हाट्सएप्प हिंदी शायरी – अब उस चिट्ठी की

अब उस चिट्ठी की तरह है ज़िन्दगी,
जिसे बिना पता लिखें रवाना कर दिया


Leave a Reply

Your email address will not be published.