शायरी २ लाइन में – अब तो ये भी नहीं

अब तो ये भी नहीं रहा एहसास दर्द होता है या नहीं होता
इश्क़ जब तक न कर चुके रुस्वा आदमी काम का नहीं होता


Leave a Reply