शायरी २ लाइन में – उसका इंतज़ार करते करते

उसका इंतज़ार करते-करते ये वक़्त आ गया है,
की अब आँखें कहती है उसके लिए हमें सज़ा मत दो


Leave a Reply

Your email address will not be published.