शायरी २ लाइन में – एक ख्वाब था

एक ख्वाब था जिसने साथ ना छोड़ा,
हकीकत तो बदलती रही हालातों के साथ


Leave a Reply

Your email address will not be published.