शायरी २ लाइन में – ख्वाहिश थी

ख्वाहिश थी कि वो मुझे प्यार करे मेरी तरह,
ख्वाहिश थी जो ख्वाहिश ही रही


Leave a Reply

Your email address will not be published.