शायरी २ लाइन में – दरिया जज्बात का

दरिया जज्बात का उमड़ता तो बहुत है,
पर भावनाओं में आजकल बहता कौन है


Leave a Reply

Your email address will not be published.