शायरी २ लाइन में – हमें लिखकर कहीं

हमें लिखकर कहीं महफूज़ कर लीजिए
तुम्हारी याददाश्त से निकलते जा रहे हैं हम


Leave a Reply