हिंदी के शेर दो लाइन में – खुल जाता है

खुल जाता है तेरी यादों का बाजार सुबह सुबह,
और हम उसी रौनक में पूरा दिन गुजार देते है


Leave a Reply

Your email address will not be published.