हिंदी के शेर दो लाइन में – रुह का रूह से

रुह का रूह से मिलना भी जरुरी है,
महज़ हाथों को थामना साथ नहीं होता


Leave a Reply

Your email address will not be published.