हिंदी के शेर दो लाइन में – हमें कोई न पहचान

हमें कोई न पहचान पाया दोस्तों,
कुछ अंधे थे तो कुछ अंधेरों में थे


Leave a Reply

Your email address will not be published.