हिंदी पोएट्री २ लाइन में – रिश्तों की कदर भी

रिश्तों की कदर भी पैसों की तरह करनी चाहिये,
क्योंकि दोनों को गँवाना आसान और कमाना मुश्किल है


Leave a Reply

Your email address will not be published.