हिंदी शायरी – मैंने उम्र गुजारी उनके

मैंने उम्र गुजारी उनके इंतजार में,
वो मुस्कुरा दिए तो हिसाब बराबर हो गया


Leave a Reply

Your email address will not be published.