हिंदी शायरी – वक्त वक्त पर

वक्त-वक्त पर खुद में बदलाव जरूरी है,
तभी जाकर जिंदगी का दौर बदलेगा


Leave a Reply

Your email address will not be published.