हिंदी शेरो शायरी – जब भी जिंदगी रुलाये

जब भी जिंदगी रुलाये समझना गुनाह माफ़ हो गये,
और जब भी जिंदगी हँसाये समझना दुआ कुबूल हो गयी


Leave a Reply

Your email address will not be published.