Hindi Poem 2 Lines Mein – दौर वह आया है

दौर वह आया है की कातिल की सज़ा कोई नहीं,
हर सज़ा उसके लिए है जिसकी खता कोई नहीं


Leave a Reply

Your email address will not be published.