Hindi Shayri 2 Line Mein – बिन मेरे रह ही

बिन मेरे रह ही जाएगी कोई न कोई कमी,
तुम ज़िंदगी को जितनी मर्जी सँवार लेना..


Leave a Reply

Your email address will not be published.