New 2 Line Poetry – गलती उनकी नहीं

गलती उनकी नहीं कसूरवार मेरी गरीबी थी दोस्तों,
हम अपनी औकात भूलकर बड़े लोगों से दिल लगा बैठे


Leave a Reply

Your email address will not be published.