New 2 Line Poetry – मालुम है वो

मालुम है वो अब भी चाहती है मुझे,
वो थोड़ी जिद्दी है मगर बेवफा नहीं


Leave a Reply

Your email address will not be published.