New 2 Line Poetry – हवाओं की तरह

हवाओं की तरह करीब से गुजर जाते है,
कुछ रिश्ते सिर्फ तन्हाई में ही मुस्कुराते है


Leave a Reply

Your email address will not be published.