New Latest Shairo Shayari 2 Lines – बेवजह उलझना पसंद नहीं है मुझे

बेवजह उलझना पसंद नहीं है मुझे,
ज़िंदगी काफ़ी है मुझे उलझाए रख़ने के लिये


Leave a Reply

Your email address will not be published.