हिंदी के शेर दो लाइन में – शायद उम्मीदें ही होती है

शायद उम्मीदें ही होती है ग़म की वजह,
वरना ख़्वाहिशें रखना कोई गुनाह तो नहीं


हिंदी के शेर दो लाइन में – रुह का रूह से

रुह का रूह से मिलना भी जरुरी है,
महज़ हाथों को थामना साथ नहीं होता


शायरी २ लाइन में – किसीके इनकार करने से

किसीके इनकार करने से,
मोहब्बत ख़तम नहीं हो जाती