शायरी २ लाइन में – अपने सिवा बताओ कभी

अपने सिवा बताओ कभी कुछ मिला भी है उसे..
हज़ार बार ली हैं उसने मेरे दिल की तलाशियाँ!


शायरी २ लाइन में – उसने पूछा मुझे पाने के लिये

उसने पूछा, मुझे पाने के लिये किस हद तक जा सकते हो ?
मैंने कहा कि अगर हद ही पार करनी होती
तो तुम्हें कब का पा लिया होता।

शायरी २ लाइन में – उन्हें ये खौफ की हर बात

उन्हें ये खौफ की हर बात मुझसे कह डाली ..
मुझे ये वहम की कोई ख़ास बात बाकी है …


शायरी २ लाइन में – पूछा था हाल उन्हॊने

पूछा था हाल उन्हॊने बड़ी मुद्दतों के बाद…
कुछ गिर गया है आँख में…कह कर हम रो पड़े…


1 2 3 189